अ से ज्ञ तक वर्णमाला A se Gya Tak Varnmala


 

अ से ज्ञ तक हिंदी वर्णमाला

अ से ज्ञ तक हिंदी वर्णमाला सीखें, और अपने प्यारे बच्चों को भी आसानी से सिखाएं। इस पोस्ट के माध्यम से अ से ज्ञ (A Se Gya Tak) अथवा आ से ज्ञा तक हिंदी वर्णमाला (Aa Se Gya Tak) और क से ज्ञ तक (Ka Se Gya Tak In Hindi) आपके लिए सबसे अच्छा अक्षर तैयार किया गया है।

हिंदी वर्णमाला में कुल 52 वर्ण शामिल होते हैं। इनमें से वर्णो में 11 स्वर, 4 संयुक्त व्यंजन, 4 अन्तस्थ व्यंजन, 1 अनुस्वार, 4 ऊष्म व्यंजन, 25 स्पर्श व्यंजन, 2 द्विगुण व्यंजन और 1 विसर्ग शामिल हैं। उच्च कक्षाओं की व्याकरण की किताब में वर्णमाला के 52 अक्षर होते हैं। 3 अतिरिक्त वर्ण अंत में लिखे गए हैं।

अ से ज्ञ तक वर्णमाला (A se Gya Tak Varnmala)

हम आपको अ से ज्ञ तक के हिंदी वर्णमाला में शामिल सभी वर्णों के बारे में बता रहे हैं, जो की इस प्रकार हैं। अ से ज्ञ तक के वर्ण अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ऋ, ए, ऐ, ओ, औ, अं, अः, क, ख, ग, घ, ड़, च, छ, ज, झ, ञ, ट, ठ, ड, ढ, ण, त, थ, द, ध, न, प, फ, ब, भ,म, य, र, ल, व, श, ष, स, ह, क्ष, त्र, ज्ञ

अ से अ: तक वर्णमाला

अं,    अ:

 क से  ज्ञ तक वर्णमाला

ण, ड़, ढ़
क्ष त्र, ज्ञ

हिंदी वर्णमाला अ  से ज्ञ तक (A se Gya Tak)

Hindi Alphabet English Sound Hindi Words English Words 
a अनार Anaar
aa आम Aam
i इमली Imlee
ee ईख Eekh
u उल्लू Ulloo
oo ऊन Oon
e एक Ek
ai ऐनक Ainak
o ओखली Okhalee
ou औरत Aurat
अं an अंगूठा Angootha
अः aha अःहा Ahaha
anga *
nja *
na *
ka कमल Kamal
kha खरगोश Kharagosh
ga गर्मी Garmi
gha घंटा Ghanta
cha चम्मच Chammach
chha छतरी Chhatri
ja जग Jag
jha झंडा Jhanda
ta टमाटर Tamatar
tha ठग Thag
da डमरू Damru
dha ढक्कन Dhakkan
ta तरबूज Tarbuj
tha थरमस Tharmas
da दवाई Dawai
dha धनिया Dhaniya
na नल Nal
pa पानी Pani
pha फल Phal
ba बकरी Bakri
bha भालू Bhaloo
ma मंदिर Mandir
ya यार Yaar
ra राम Ram
la लगन Lagan
va वन Van
sha शगुन Shagun
shha षटकोण Shhatkon
sa समय Samay
ha हवा Hawa
क्ष ksha क्षमा Kshama
ज्ञ gya ज्ञान Gyan
त्र tri त्रिपाल Tripal
ri ऋषि Rishi
नोट:-  ङ, ञ एवं ण वर्ण से किसी भी शब्द का शुरुआत नहीं होता है.

हिन्दी वर्णमाला अ से ज्ञ तक

  • अ से अनानास
  • आ से आलू
  • इ से इमली
  • ई से ईट
  • उ से उल्लू
  • ऊ से ऊन
  • ऋ से ऋषि
  • ए से एक
  • ऐ से ऐनक
  • ओ से ओखली
  • औ से औरत
  • अं से अंगूर
  • अ:
  • क से कबूतर
  • ख से खरगोश
  • ग से गमला
  • घ से घड़ी
  • च से चम्मच
  • छ से छाता
  • ज से जहाज
  • झ से झरना
  • ट से टमाटर
  • ठ से ठठेरा
  • ड से डमरू
  • ढ से ढोलक
  • त से तरबूज
  • थ से थाली
  • द से दवात
  • ध से धनुष
  • न से नल
  • प से पतंग
  • फ से फल
  • ब से बतख
  • भ से भालू
  • म से मक्का
  • य से यज्ञ
  • र से रथ
  • ल से लड्डू
  • व से वकील
  • श से शहनाई
  • ष से षटकोण
  • स से सांप
  • ह से हाथी
  • क्ष से क्षत्रिय
  • त्र से त्रिशूल
  • ज्ञ से ज्ञानी

अ से ज्ञ तक वर्णमाला अंग्रेजी में 

आइए अब  अ  से ज्ञ  तक वर्णमाला को अंग्रेजी में देखते है कि कैसे लिखा जाएगा। इसे एक बार समझ लेने पर अंग्रेजी भाषा को भी पढ़ने में आसानी हो जायेगी।

अ से अः तक वर्णमाला अंग्रेजी में

A (अ)    Aa (आ)    I (इ) Ee (ई) U (उ) Oo (ऊ)
E (ए)    Ai (ऐ) O (ओ)     Ou (औ)      An (अं)     Aha (अः)     Ri (ऋ)

क से ज्ञ तक वर्णमाला अंग्रेजी में

K (क) Kha (ख) Ga (ग) Gha (घ) Nya (ङ) 
Cha (च) Chha (छ) Ja (ज) Jha (झ) Na (ञ)
Ta (ट) Tha (ठ) Da (ड) Dha (ढ) Na (ण) 
Ta (त) Tha (थ) Da (द) Dha (ध) Na (न) 
Pa (प) Pha / Fha (फ) Ba (ब) Bha (भ) Ma (म) 
Ya (य) Ra (र) La (ल) Va (व) Sha (श) 
Sha (ष) Sa (स) Ha (ह)  Ksha (क्ष) & Tra (त्र) Gya (ज्ञ)

अ से ज्ञ तक के वर्णमाला का उच्चारण कैसे करें

अ से ज्ञ तक के वर्णमाला का उच्चारण


हिन्दी वर्णमाला के प्रत्येक ब्यंजन में एक अंतर्निहित स्वर होता है. समुचित अ से ज्ञ तक वर्णमाला उच्चारण मुख भुजाओं के 9 स्थानों से ही होता है. अगर आप इसको जान लेंगे तो आप का उच्चारण अति उत्कृष्ट होने के साथ-साथ आपको सभी वर्ण आसानी से याद भी हो जाएंगे.
  1. Guttural (कण्ठ) 
  2. Palatal (तालु) 
  3. Retroflex (मूर्द्धा) 
  4. Dental (दन्त) 
  5. Labial (ओष्ठ) 
  6. Nostrils (नासिका) 
  7. Palato Guttural (कण्ठतालु) 
  8. Labio Guttural (कण्ठोष्टय) 
  9. Dental Guttural (दन्तोष्ठ्य). 

1 – Guttural (कण्ठ) – कंठ वाक् ध्वनियाँ मौखिक गुहा के पीछे के पास मुखरता के प्राथमिक स्थान के साथ होती हैं, विशेष रूप से जहाँ ध्वनि के स्थान और उसके स्वर को भेद करना मुश्किल होता है।

  • व्यंजन – क (k), ख (kha), ग (ga), घ (gha), ङ (nya) और ह (ha).
  • स्वर – अ (a), आ (aa) और अः (aha).

2 – Palatal (तालु)   जीभ की सतह को कठोर तालू की ओर ऊपर उठाने के साथ हो सकते हैं. हालांकि इसकी प्राथमिक अभिव्यक्ति में जीभ की नोक और ऊपरी मसूड़े शामिल होते हैं.

  • व्यंजन – च (cha), छ (chha), ज (ja), झ (jha), ञ (na) य (ya) और श (sha)
  • स्वर – इ (i) ई (ee).

3 – Retroflex (मूर्द्धा) जहां जीभ का एक फ्लैट, अवतल, या यहां तक ​​​​कि घुमावदार आकार होता है, और वायुकोशीय रिज और कठोर ताल के बीच व्यक्त किया जाता है.

  • व्यंजन – ट (ta), ठ (tha), ड (da), ढ (dha), ण (na), र (ra) और ष (sha).
  • ऋ (ri).

4 – Dental (दन्त) ऊपरी दांतों के निचले हिस्से का संपर्क जीभ के आगे के हिस्से के साथ व्यक्त किया जाता है.

  • व्यंजन – त (ta), थ (tha), द (da), ध (dha), न (na), ल (la) और स (sa).

5 – Labial (ओष्ठ) – दोनों होंठों का उपयोग करके व्यक्त किए जाते हैं.

  • व्यंजन – प (pa), फ (fha), ब (ba), भ (bha) और म (ma).
  • स्वर – उ (u) ऊ (oo).

6 – Nostrils (नासिका) – वर्णों के उच्चारण में नाक का प्रयोग करके ध्वनि निकाला जाता है.

  • अं, ड्, ञ, ण, न्, म्.

7 – Palato Guttural (कण्ठतालु) – कण्ठ एवं तालु के प्रयोग से उपयुक्त ध्वनि निकाला जाता है.

  • स्वर – ए (e) ऐ (ai)

8 – Labio Guttural (कण्ठोष्टय) – कण्ठ एवं होंठों के प्रयोग से उपयुक्त ध्वनि निकाला जाता है.

  • स्वर – ओ (o) औ (ou).

9 – Dental Guttural (दन्तोष्ठ्य) – दांत एवं होंठों के प्रयोग से उपयुक्त ध्वनि निकाला जाता है.

  • व्यंजन – व (va).
नोट:-  इन तीनों से आप भी आप कंफ्यूज होते होंगे
  • श ☛sha, – श का उच्चारण जीभ व तालू का स्पर्श से होती है इसलिए ‘श’ को तालव्य ‘श’ कहते हैं.
  • ष ☛sha, – जब ष का जीभ व मूर्धा का स्पर्श से होती है है और इसलिए ‘ष’ को मूर्धन्य ‘ष’ कहते हैं. 
  • स ☛sa –  जब ‘स’ का उच्चारण जीभ व दाँतों का स्पर्श से होती है और इसलिए ‘स’ को दन्त्य ‘स’ कहते हैं.
हमें उम्मीद है कि आप सभी को आज का यह पोस्ट  अ से ज्ञ तक वर्णमाला (A se Gya Tak Varnmala) जरूर पसंद आया होगा.

Leave a Comment