ईद का चाँद होना मुहावरा का अर्थ – Eid ka Chand Hona


Eid ka Chand Hona muhavara ka Arth: दोस्तो आज हम आप सब को ईद का चांद होना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग बताने वाले है.

ईद का चाँद होना मुहावरा का अर्थ और वाक्य प्रयोग

ईद का चाँद होना  – हिंदी भाषा का एक प्रचलित लोकोक्ति या मुहावरा है ।

अर्थ – बहुत दिनों पर दिखाई पड़ना।

ईद का चाँद होना मुहावरा का वाक्य प्रयोग

  • अरे तुम तो ईद का चाँद हो गये हो कभी सूरत भी नहीं दिखाते।
  • अरे भाई मुकेश, कहा रहते हो आजकल, तुम तो ईद का चाँद हो गये हो!
  • सुरेश ने अपने बचपन के दोस्त को कहा – यार मिलते रहा करो तुम तो ईद के चाँद ही हो गये हो.
  • सीता ने गीता को कहा तुम तो आजकल नज़र ही नहीं आती, बस ईद का चाँद हो गयी हो.
  • मनीष ने सतीश को ताना मारा – भाई, बड़े आदमी बन गये हो, दिखते ही नहीं आजकल. एकदम ईद के चाँद बन गये हो.
  • आजकल टीचर दो ईद के चांद हो गए हैं दिखाई ही नहीं देते हैं।
  • रमेश तो ईद का चांद हो चुका है सो नजर ही नहीं आता है।
  • देश का प्रधान मंत्री तो ईद का चांद है । कम ही नजर आता है।
  • ‌‌‌जब से पुलिस तेरे पीछे पड़ी है तब से तू कम ही नजर आता है ईद का चांद हो गया है।